Aal-e-Nabi Aqs-e-Ali Zeeshaan Hain Khwaja Piya Naat Lyrics

Aal-e-Nabi Aqs-e-Ali Zeeshaan Hain Khwaja Piya Naat Lyrics

 

 

ख़्वाजा ! मोरे ख़्वाजा !
ख़्वाजा ! मोरे ख़्वाजा !

मो’ईनुद्दीन ख़्वाजा ! मो’ईनुद्दीन ख़्वाजा !
मो’ईनुद्दीन ख़्वाजा ! मो’ईनुद्दीन ख़्वाजा !

मौला ‘अली के नूर-ए-नज़र हो
प्यारे नबी के लख़्त-ए-जिगर हो

आल-ए-नबी, ‘अक़्स-ए-‘अली, ज़ीशान हैं ख़्वाजा पिया
सारे जहाँ में हिन्द की पहचान हैं ख़्वाजा पिया

बाँधा है इस उम्मीद पर रख़्त-ए-सफ़र अजमेर से
मंज़िल मेरी तयबा नगर, सामान हैं ख़्वाजा पिया

आल-ए-नबी, ‘अक़्स-ए-‘अली, ज़ीशान हैं ख़्वाजा पिया
सारे जहाँ में हिन्द की पहचान हैं ख़्वाजा पिया

हिन्दुस्ताँ की मिल्किय्यत महशर तलक ख़्वाजा की है
महशर तलक इस हिन्द के सुल्तान हैं ख़्वाजा पिया

आल-ए-नबी, ‘अक़्स-ए-‘अली, ज़ीशान हैं ख़्वाजा पिया
सारे जहाँ में हिन्द की पहचान हैं ख़्वाजा पिया

सरकार की निस्बत मिली, निस्बत मिली, जन्नत मिली
हम पर रसूल-ए-पाक का एहसान हैं ख़्वाजा पिया

आल-ए-नबी, ‘अक़्स-ए-‘अली, ज़ीशान हैं ख़्वाजा पिया
सारे जहाँ में हिन्द की पहचान हैं ख़्वाजा पिया

कोई निज़ामुद्दीन है, कोई अलाउद्दीन है
ऐसे तेरे दरबार के दरबान हैं ख़्वाजा पिया

आल-ए-नबी, ‘अक़्स-ए-‘अली, ज़ीशान हैं ख़्वाजा पिया
सारे जहाँ में हिन्द की पहचान हैं ख़्वाजा पिया

उन के वसीले से मुझे ईमान की दौलत मिली
मेरे लिए अल्लाह का ‘इरफ़ान हैं ख़्वाजा पिया

आल-ए-नबी, ‘अक़्स-ए-‘अली, ज़ीशान हैं ख़्वाजा पिया
सारे जहाँ में हिन्द की पहचान हैं ख़्वाजा पिया

अल्लाह ने इस मुल्क की दी मेज़बानी आप को
और हिन्द के कुल औलिया मेहमान हैं, ख़्वाजा पिया !

आल-ए-नबी, ‘अक़्स-ए-‘अली, ज़ीशान हैं ख़्वाजा पिया
सारे जहाँ में हिन्द की पहचान हैं ख़्वाजा पिया

पैदाइशी चिश्ती हूँ मैं, मशरब मेरा है क़ादरी
हैं, नूर ! दिल ग़ौस-उल-वरा और जान हैं ख़्वाजा पिया

आल-ए-नबी, ‘अक़्स-ए-‘अली, ज़ीशान हैं ख़्वाजा पिया
सारे जहाँ में हिन्द की पहचान हैं ख़्वाजा पिया

शायर:
ग़ुलाम नूर-ए-मुजस्सम

ना’त-ख़्वाँ:
मुहम्मद अली फ़ैज़ी
अहमद-उल-फ़त्ताह
ग़ुलाम नूर-ए-मुजस्सम
तुफ़ैल शम्शी
हस्सान रज़ा क़ादरी
ज़िया यज़्दानी
महमूद रज़ा क़ादरी

 

KHwaja ! more KHwaja !
KHwaja ! more KHwaja !

mo’inuddin KHwaja ! mo’inuddin KHwaja !
mo’inuddin KHwaja ! mo’inuddin KHwaja !

maula ‘ali ke noor-e-nazar ho
pyaare nabi ke laKHt-e-jigar ho

aal-e-nabi, ‘aqs-e-‘ali
zeeshaan hai.n KHwaja piya
saare jahaa.n me.n hind ki
pehchaan hai.n KHwaja piya

baandha hai is ummeed par
raKHt-e-safar ajmer se
manzil meri tayba nagar
saamaan hai.n KHwaja piya

aal-e-nabi, ‘aqs-e-‘ali
zeeshaan hai.n KHwaja piya
saare jahaa.n me.n hind ki
pehchaan hai.n KHwaja piya

hindustaa.n ki milkiyyat
mahshar talak KHwaja ki hai
mahshar talak is hind ke
sultaan hai.n KHwaja piya

aal-e-nabi, ‘aqs-e-‘ali
zeeshaan hai.n KHwaja piya
saare jahaa.n me.n hind ki
pehchaan hai.n KHwaja piya

sarkaar ki nisbat mili
nisbat mili, jannat mili
ham par rasool-e-paak ka
ehsaan hai.n KHwaja piya

aal-e-nabi, ‘aqs-e-‘ali
zeeshaan hai.n KHwaja piya
saare jahaa.n me.n hind ki
pehchaan hai.n KHwaja piya

koi nizaamuddin hai
koi alaauddin hai
aise tere darbaar ke
darbaan hai.n KHwaja piya

aal-e-nabi, ‘aqs-e-‘ali
zeeshaan hai.n KHwaja piya
saare jahaa.n me.n hind ki
pehchaan hai.n KHwaja piya

un ke waseele se mujhe
imaan ki daulat mili
mere liye allah ka
‘irfaan hai.n KHwaja piya

aal-e-nabi, ‘aqs-e-‘ali
zeeshaan hai.n KHwaja piya
saare jahaa.n me.n hind ki
pehchaan hai.n KHwaja piya

allah ne is mulk ki
di mezbaani aap ko
aur hind ke kul auliya
mehmaan hai.n, KHwaja piya !

aal-e-nabi, ‘aqs-e-‘ali
zeeshaan hai.n KHwaja piya
saare jahaa.n me.n hind ki
pehchaan hai.n KHwaja piya

paidaaishi chishti hu.n mai.n
mashrab mera hai qaadri
hai.n, Noor ! dil Gaus-ul-wara
aur jaan hai.n KHwaja piya

aal-e-nabi, ‘aqs-e-‘ali
zeeshaan hai.n KHwaja piya
saare jahaa.n me.n hind ki
pehchaan hai.n KHwaja piya

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *