Aaqa Ne Musalle Pe Khada Kar Ke Bataaya Siddiq Hai Pehla Naat Lyrics

Aaqa Ne Musalle Pe Khada Kar Ke Bataaya Siddiq Hai Pehla Naat Lyrics

 

 

आक़ा ने मुसल्ले पे खड़ा कर के बताया, सिद्दीक़ है पहला
फिर सारे सहाबा ने यही ना’रा लगाया, सिद्दीक़ है पहला

वो पहला मुसलमान, ख़लीफ़ा वही पहला, हैदर का है प्यारा
‘उस्मान-ओ-‘उमर ने भी है रहबर जिसे माना, सिद्दीक़ है पहला

आक़ा ने मुसल्ले पे खड़ा कर के बताया, सिद्दीक़ है पहला
फिर सारे सहाबा ने यही ना’रा लगाया, सिद्दीक़ है पहला

सिद्दीक़ के गुस्ताख़ ज़रा होश में आओ, कुछ ख़ौफ़ तो खाओ
ढूँढे से न मिल पाएगा ऐसा तुम्हें आक़ा, सिद्दीक़ है पहला

आक़ा ने मुसल्ले पे खड़ा कर के बताया, सिद्दीक़ है पहला
फिर सारे सहाबा ने यही ना’रा लगाया, सिद्दीक़ है पहला

ख़ुद साँप से डसवा लिया, पाओं न हटाया, क्या ‘इश्क़ निभाया !
क्या और भी दुनिया में वफ़ादार है ऐसा ! सिद्दीक़ है पहला

आक़ा ने मुसल्ले पे खड़ा कर के बताया, सिद्दीक़ है पहला
फिर सारे सहाबा ने यही ना’रा लगाया, सिद्दीक़ है पहला

सिद्दीक़ की ‘अज़मत तो घटी है न घटेगी, ये बढ़ती रहेगी
सिद्दीक़ के हामी-ओ-मददगार हैं आक़ा, सिद्दीक़ है पहला

आक़ा ने मुसल्ले पे खड़ा कर के बताया, सिद्दीक़ है पहला
फिर सारे सहाबा ने यही ना’रा लगाया, सिद्दीक़ है पहला

बू-बक्र का बाग़ी तो ‘अली का भी है बाग़ी, ये बात है सच्ची
हैदर ने भी सरदार जिसे अपना है माना, सिद्दीक़ है पहला

आक़ा ने मुसल्ले पे खड़ा कर के बताया, सिद्दीक़ है पहला
फिर सारे सहाबा ने यही ना’रा लगाया, सिद्दीक़ है पहला

हर लम्हा शह-ए-बतहा के वो साथ रहा है, वो जान-ए-वफ़ा है
है आज भी पहलु-ए-मुहम्मद में ठिकाना, सिद्दीक़ है पहला

आक़ा ने मुसल्ले पे खड़ा कर के बताया, सिद्दीक़ है पहला
फिर सारे सहाबा ने यही ना’रा लगाया, सिद्दीक़ है पहला

गर जलते हैं, जलते रहें, हम को नहीं परवाह, सिद्दीक़ के आ’दा
हर बज़्म में, हर मोड़ पे ना’रा यही होगा, सिद्दीक़ है पहला

आक़ा ने मुसल्ले पे खड़ा कर के बताया, सिद्दीक़ है पहला
फिर सारे सहाबा ने यही ना’रा लगाया, सिद्दीक़ है पहला

सिद्दीक़ के बाग़ी से सदा जंग करेंगे, ‘आसिम ! न डरेंगे
सिद्दीक़ की ‘अज़मत पे सदा देंगे यूँ पहरा, सिद्दीक़ है पहला

आक़ा ने मुसल्ले पे खड़ा कर के बताया, सिद्दीक़ है पहला
फिर सारे सहाबा ने यही ना’रा लगाया, सिद्दीक़ है पहला

शायर:
‘आसिम-उल-क़ादरी मुरादाबादी

ना’त-ख़्वाँ:
हाफ़िज़ ताहिर क़ादरी

 

aaqa ne musalle pe kha.Da kar ke bataaya
siddiq hai pehla
phir saare sahaaba ne yahi naa’ra lagaaya
siddiq hai pehla

wo pehla musalmaan, KHalifa wahi pehla
haidar ka hai pyaara
‘usmaan-o-‘umar ne bhi hai rahbar jise maana
siddiq hai pehla

aaqa ne musalle pe kha.Da kar ke bataaya
siddiq hai pehla
phir saare sahaaba ne yahi naa’ra lagaaya
siddiq hai pehla

siddiq ke gustaaKH zara hosh me.n aao
kuchh KHauf to khaao
DoonDhe se na mil paaega aisa tumhe.n aaqa
siddiq hai pehla

aaqa ne musalle pe kha.Da kar ke bataaya
siddiq hai pehla
phir saare sahaaba ne yahi naa’ra lagaaya
siddiq hai pehla

KHud saa.np se Daswa liya, paao.n na haTaaya
kya ‘ishq nibhaaya !
kya aur bhi duniya me.n wafaadaar hai aisa !
siddiq hai pehla

aaqa ne musalle pe kha.Da kar ke bataaya
siddiq hai pehla
phir saare sahaaba ne yahi naa’ra lagaaya
siddiq hai pehla

siddiq ki ‘azmat to ghaTi hai na ghaTegi
ye ba.Dhti rahegi
siddiq ke haami-o-madadgaar hai.n aaqa
siddiq hai pehla

aaqa ne musalle pe kha.Da kar ke bataaya
siddiq hai pehla
phir saare sahaaba ne yahi naa’ra lagaaya
siddiq hai pehla

bu-bakr ka baaGi to ‘ali ka bhi hai baaGi
ye baat hai sachchi
haidar ne bhi sardaar jise apna hai maana
siddiq hai pehla

aaqa ne musalle pe kha.Da kar ke bataaya
siddiq hai pehla
phir saare sahaaba ne yahi naa’ra lagaaya
siddiq hai pehla

har lamha shah-e-bat.ha ke wo saath raha hai
wo jaan-e-wafa hai
hai aaj bhi pahlu-e-muhammad me.n Thikaana
siddiq hai pehla

aaqa ne musalle pe kha.Da kar ke bataaya
siddiq hai pehla
phir saare sahaaba ne yahi naa’ra lagaaya
siddiq hai pehla

gar jalte hai.n, jalte rahe.n, ham ko nahi.n parwaah
siddiq ke aa’da
har bazm me.n, har mo.D pe naa’ra yahi hoga
siddiq hai pehla

aaqa ne musalle pe kha.Da kar ke bataaya
siddiq hai pehla
phir saare sahaaba ne yahi naa’ra lagaaya
siddiq hai pehla

siddiq ke baaGi se sada jang karenge
‘Aasim ! na Darenge
siddiq ki ‘azmat pe sada denge yu.n pehra
siddiq hai pehla

aaqa ne musalle pe kha.Da kar ke bataaya
siddiq hai pehla
phir saare sahaaba ne yahi naa’ra lagaaya
siddiq hai pehla

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *