Banda-e-Khaaliq Khalq Ke Waali Mere Nabi Ki Shaan Niraali Naat Lyrics

Banda-e-Khaaliq Khalq Ke Waali Mere Nabi Ki Shaan Niraali Naat Lyrics

 

 

बंदा-ए-ख़ालिक़, ख़ल्क़ के वाली
मेरे नबी की शान निराली
ख़ल्क़ है सारी, उन की सवाली
मेरे नबी की शान निराली

बंदा-ए-ख़ालिक़, ख़ल्क़ के वाली
मेरे नबी की शान निराली

जिस को मिला है, जो भी मिला है
मेरे नबी के दर से मिला है
लौटा न साइल कोई भी ख़ाली
मेरे नबी की शान निराली

बंदा-ए-ख़ालिक़, ख़ल्क़ के वाली
मेरे नबी की शान निराली

होता नहीं है उन को कोई ग़म
जो हैं ग़ुलाम-ए-शाह-ए-दो-‘आलम
रुत्बे मिले हैं उन को मिसाली
मेरे नबी की शान निराली

बंदा-ए-ख़ालिक़, ख़ल्क़ के वाली
मेरे नबी की शान निराली

लफ़्ज़ लुग़त में मिल नहीं पाए
ना’त-ए-नबी जब लिख नहीं पाए
बात ये कह कर, बात बना ली
मेरे नबी की शान निराली

बंदा-ए-ख़ालिक़, ख़ल्क़ के वाली
मेरे नबी की शान निराली

नबियों में देखा, वलियों में देखा
कोई नहीं है मेरे नबी सा
‘अक्स ! नहीं ये ख़ाम-ख़याली
मेरे नबी की शान निराली

बंदा-ए-ख़ालिक़, ख़ल्क़ के वाली
मेरे नबी की शान निराली

नात-ख़्वाँ:
नवल ख़ान

 

banda-e-KHaaliq, KHalq ke waali
mere nabi ki shaan niraali
KHalq hai saari, un ki sawaali
mere nabi ki shaan niraali

banda-e-KHaaliq, KHalq ke waali
mere nabi ki shaan niraali

jis ko mila hai, jo bhi mila hai
mere nabi ke dar se mila hai
lauta na saail koi bhi KHaali
mere nabi ki shaan niraali

banda-e-KHaaliq, KHalq ke waali
mere nabi ki shaan niraali

hota nahi.n hai un ko koi Gam
jo hai.n Gulaam-e-shaah-e-do-‘aalam
rutbe mile hai.n un ko misaali
mere nabi ki shaan niraali

banda-e-KHaaliq, KHalq ke waali
mere nabi ki shaan niraali

lafz luGat me.n mil nahi.n paae
naa’t-e-nabi jab likh nahi.n paae
baat ye kah kar, baat bana li
mere nabi ki shaan niraali

banda-e-KHaaliq, KHalq ke waali
mere nabi ki shaan niraali

nabiyo.n me.n dekha, waliyo.n me.n dekha
koi nahi.n hai mere nabi sa
‘aks ! nahi.n ye KHaam-KHayaali
mere nabi ki shaan niraali

banda-e-KHaaliq, KHalq ke waali
mere nabi ki shaan niraali

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *