Huzoor Meri To Sari Bahaar Aap Se Hai Naat Lyrics

Huzoor Meri To Sari Bahaar Aap Se Hai Naat Lyrics

 

हुज़ूर ! मेरी तो सारी बहार आप से है
मैं बे-क़रार था, मेरा क़रार आप से है

मेरी तो हस्ती ही क्या है, मेरे ग़रीब-नवाज़ !
जो मिल रहा है मुझे सारा प्यार आप से है

कहाँ वो अर्ज़-ए-मदीना, कहाँ मेरी हस्ती
ये हाज़री का सबब बार बार आप से है

गुनाहगार हूँ, आक़ा ! बड़ी नदामत है
क़सम ख़ुदा की ! ये मेरा वक़ार आप से है

मोहब्बतों का सिला कौन ऐसे देता है
सुनहरी जालियों में यार-ए-ग़ार आप से है

हुज़ूर ! आप की यादों में अश्क रहमत हैं
ये तेरी आँख, ज़िया ! अश्क-बार आप से है

शायर:
मुहम्मद रफ़ीक़ ज़िया क़ादरी

ना’त-ख़्वाँ:
ओवैस रज़ा क़ादरी

 

huzoor ! meri to saari bahaar aap se hai
mai.n be-qaraar tha, mera qaraar aap se hai

meri to hasti hi kya hai, mere Gareeb-nawaaz !
jo mil raha hai mujhe saara pyaar aap se hai

kahaa.n wo arz-e-madina, kahaa.n meri hasti
ye haazri ka sabab baar baar aap se hai

gunaahgaar hu.n, aaqa ! ba.Di nadaamat hai
qasam KHuda ki ! ye mera waqaar aap se hai

mohabbato.n ka sila kaun aise deta hai
sunahri jaaliyo.n me.n yaar-e-Gaar aap se hai

huzoor ! aap ki yaado.n me.n ashk rahmat hai
ye teri aankh, Ziya ! ashk-baar aap se hai

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *