Ilm Noor Hai Naat Lyrics

Ilm Noor Hai Naat Lyrics (Zehni Aazmaish Season 10)

 

अल इल्मु नूर, अल इल्मु नूर, अल इल्मु नूर

इल्म नूर है, इल्म नूर है, इल्म नूर है, इल्म नूर है

हुवा वो मुन्कशिफ़ जो आया दाएरा-ए-इल्म में
मिटे अँधेरे शक-ओ-ज़न के शाह-राह-ए-इल्म में

इल्म नूर है, इल्म नूर है, इल्म नूर है, इल्म नूर है

जो इल्म से हो मुत्तसिल बुलंदियों से जा मिले
उठा कलम दवात चल दे रास्ता-ए-इल्म में

इल्म नूर है, इल्म नूर है, इल्म नूर है, इल्म नूर है

सुवाल कर के चाबी इल्म की कहा गया इसे
कहा गया सुवाल कर, सुवाल आधा इल्म है

इल्म नूर है, इल्म नूर है, इल्म नूर है, इल्म नूर है

तू ख़र्च कर बढ़ेगा ये न कम हो माल की तरह
तू माल को संभालता, संभाले तुझ को इल्म है

इल्म नूर है, इल्म नूर है, इल्म नूर है, इल्म नूर है

जो चाहे ज़िन्दगी हमेशा थाम ले वो इल्म को
अगर चे डूबें कस्तियाँ, न डूबता ये इल्म है

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *