Koi Jaam Aisa Pila Dijiye Na Naat Lyrics

Koi Jaam Aisa Pila Dijiye Na Naat Lyrics

 

 

कोई जाम ऐसा पिला दीजिए न
ये सीना मदीना बना दीजिए न

बहुत तेज़ है धूप, ए मेरे आक़ा !
हमें नूरी चादर ओढ़ा दीजिए न

अगर आप का मैं भी मुजरिम हूँ, आक़ा !
मदीना बुला कर सजा दीजिए न

रईस-ए-उड़ीशा मुजाहिद के सदक़े
मैं क़तरा हूँ, दरिया बना दीजिए न

ज़ियारत को कब तक तड़पते रहेंगे
ज़रा रुख़ से पर्दा हटा दीजिए न

नदीम-ए-रज़ा को नवासे का सदक़ा
‘अता कर के क़िस्मत जगा दीजिए न

शायर:
नदीम रज़ा फ़ैज़ी

ना’त-ख़्वाँ:
नदीम रज़ा फ़ैज़ी

 

koi jaam aisa pila dijiye na
ye seena madina bana dijiye na

bahut tez hai dhoop, ai mere aaqa !
hame.n noori chaadar o.Dha dijiye na

agar aap ka mai.n bhi mujrim hu.n, aaqa !
madina bula kar saja dijiye na

raees-e-odisha mujaahid ke sadqe
mai.n qatra hu.n, dariya bana dijiye na

ziyaarat ko kab tak ta.Dapte rahenge
zara ruKH se parda haTa dijiye na

Nadeem-e-Raza ko nawaase ka sadqa
‘ata kar ke qismat jaga dijiye na

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *