Mojza Mere Nabi Ka Keh Diya To Ho Gaya Naat Lyrics

Mojza Mere Nabi Ka Keh Diya To Ho Gaya Naat Lyrics

 

 

मो’जज़ा मेरे नबी का कह दिया तो हो गया
आप ने क़तरे को दरिया कह दिया तो हो गया

हाथ में तलवार ले कर आए जब हज़रत उमर
आ मेरे दामन में आजा कह दिया तो हो गया

आबदीदा थे ब-वक़्ते-अस्र जब हज़रत अली
डूबे सूरज को ‘निकल जा’ कह दिया तो हो गया

मस्जिदे-नबवी में घर से आप के मिम्बर तलक
आप ने जन्नत का टुकड़ा कह दिया तो हो गया

मुस्तफ़ा से है ख़ुदा को प्यार कितना देखिये
ख़ाना-ए-काबा को क़िब्ला कह दिया तो हो गया

नाम ले कर मुस्तफ़ा का, हाथ में ले कर कलाम
मैंने अजमल इक क़सीदा कह दिया तो हो गया

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *