Naazil Hon Sada Rahmat Ke Gauhar Attar Ki Pyaari Ammi Par Naat Lyrics

Naazil Hon Sada Rahmat Ke Gauhar Attar Ki Pyaari Ammi Par Naat Lyrics

 

 

Naazil Hon Sada Rahmat Ke Gauhar Attar Ki Pyaari Ammi Par | Faizaan-e-Umm-e-Attar Jaari Rahega

 

 

फ़ैज़ान-ए-उम्म-ए-‘अत्तार जारी रहेगा
फ़ैज़ान-ए-उम्म-ए-‘अत्तार जारी रहेगा

जारी रहेगा, सारी रहेगा
फ़ैज़ान-ए-उम्म-ए-‘अत्तार जारी रहेगा

नाज़िल हों सदा रहमत के गौहर ‘अत्तार की प्यारी अम्मी पर
हो प्यारे नबी की ख़ास नज़र ‘अत्तार की प्यारी अम्मी पर

नाज़िल हों सदा रहमत के गौहर ‘अत्तार की प्यारी अम्मी पर

मिल्लत को दिया ऐसा बेटा, सुन्नत का ‘अलम जिस ने थामा
क़ुर्बां हैं हमारे क़ल्ब-ओ-जिगर ‘अत्तार की प्यारी अम्मी पर

नाज़िल हों सदा रहमत के गौहर ‘अत्तार की प्यारी अम्मी पर

सब अहल-ए-सुनन करते हैं दु’आ, हम पर भी रहे उस माँ की ‘अता
हो बारिश-ए-रहमत शाम-ओ-सहर ‘अत्तार की प्यारी अम्मी पर

नाज़िल हों सदा रहमत के गौहर ‘अत्तार की प्यारी अम्मी पर

मौला ! ये घराना शाद रहे, ता-हश्र यूँही आबाद रहे
फ़ैज़ान-ए-ख़ुदा के हों गुल-ए-तर ‘अत्तार की प्यारी अम्मी पर

नाज़िल हों सदा रहमत के गौहर ‘अत्तार की प्यारी अम्मी पर

फ़ैज़ान-ए-उम्म-ए-‘अत्तार जारी रहेगा
फ़ैज़ान-ए-उम्म-ए-‘अत्तार जारी रहेगा

जारी रहेगा, सारी रहेगा
फ़ैज़ान-ए-उम्म-ए-‘अत्तार जारी रहेगा

नात-ख़्वाँ:
ख़लील अत्तारी

 

faizaan-e-umm-e-‘attar jaari rahega
faizaan-e-umm-e-‘attar jaari rahega

jaari rahega, saari rahega
faizaan-e-umm-e-‘attar jaari rahega

naazil ho.n sada rahmat ke gauhar
‘attar ki pyaari ammi par
ho pyaare nabi ki KHaas nazar
‘attar ki pyaari ammi par

naazil ho.n sada rahmat ke gauhar
‘attar ki pyaari ammi par

millat ko diya aisa beta
sunnat ka ‘alam jis ne thaama
qurbaa.n hai.n hamaare qalb-o-jigar
‘attar ki pyaari ammi par

naazil ho.n sada rahmat ke gauhar
‘attar ki pyaari ammi par

sab ahl-e-sunan karte hai.n du’aa
ham par bhi rahe us maa.n ki ‘ata
ho baarish-e-rahmat shaam-o-sahar
‘attar ki pyaari ammi par

naazil ho.n sada rahmat ke gauhar
‘attar ki pyaari ammi par

maula ! ye gharaana shaad rahe
taa-hashr yu.nhi aabaad rahe
faizaan-e-KHuda ke ho.n gul-e-tar
‘attar ki pyaari ammi par

naazil ho.n sada rahmat ke gauhar
‘attar ki pyaari ammi par

faizaan-e-umm-e-‘attar jaari rahega
faizaan-e-umm-e-‘attar jaari rahega

jaari rahega, saari rahega
faizaan-e-umm-e-‘attar jaari rahega

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *