Noor Se Apne Sarwar-e-Aalam Duniya Jagmagane Aae Naat Lyrics

Noor Se Apne Sarwar-e-Aalam Duniya Jagmagane Aae Naat Lyrics

 

 

नूर से अपने सरवर-ए-‘आलम दुनिया जगमगाने आए
ग़म के मारों, दुखियारों को वो सीने से लगाने आए

दुनिया जगमगाने आए, दुनिया जगमगाने आए

नूर-ए-निगाह-ए-अंबिया, मेरे हुज़ूर आ गए
शान-ओ-निशान-ए-किब्रिया, मेरे हुज़ूर आ गए

नूर से अपने सरवर-ए-‘आलम दुनिया जगमगाने आए

निखरा हुवा है रू-ए-गुल, फैली हुई है बू-ए-गुल
बन के बहार-ए-जाँ-फ़िज़ा, मेरे हुज़ूर आ गए

नूर से अपने सरवर-ए-‘आलम दुनिया जगमगाने आए

अश्कों से भर के झोलियाँ आँखें बिछा दो राह में
सल्ले-‘अला की दो सदा, मेरे हुज़ूर आ गए

नूर से अपने सरवर-ए-‘आलम दुनिया जगमगाने आए

चटकी हुई है चाँदनी, फैली हुई है रौशनी
दरिया रवाँ है नूर का, मेरे हुज़ूर आ गए

नूर से अपने सरवर-ए-‘आलम दुनिया जगमगाने आए

साइम ! कमाल-ए-ज़ौक़ से, क़ल्ब-ओ-नज़र को शौक़ से
राहों में आज दो बिछा, मेरे हुज़ूर आ गए

ना’त-ख़्वाँ:
ओवैस रज़ा क़ादरी

 

noor se apne sarwar-e-‘aalam
duniya jagmagaane aae
Gam ke maaro.n, dukhiyaaro.n ko
wo seene se lagaane aae

duniya jagmagaane aae
duniya jagmagaane aae

noor-e-nigaah-e-ambiya
mere huzoor aa gae
shaan-o-nishaan-e-kibriya
mere huzoor aa gae

noor se apne sarwar-e-‘aalam
duniya jagmagaane aae

nikhra huwa hai roo-e-gul
phaili hui hai boo-e-gul
ban ke bahaar-e-jaa.n-fiza
mere huzoor aa gae

noor se apne sarwar-e-‘aalam
duniya jagmagaane aae

ashqo.n se bhar ke jholiyaa.n
aankhe.n bichha do raah me.n
salle-‘ala ki do sada
mere huzoor aa gae

noor se apne sarwar-e-‘aalam
duniya jagmagaane aae

chaTki hui hai chaandni
phaili hui hai raushni
dariya rawaa.n hai noor ka
mere huzoor aa gae

noor se apne sarwar-e-‘aalam
duniya jagmagaane aae

Saaim ! kamaal-e-zauq se
qalb-o-nazar ko shauq se
raaho.n me.n aaj do bichha
mere huzoor aa gae

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *