Qurbani Ke Din Aae Khushiyaan Saath Mein Le Aae Naat Lyrics

Qurbani Ke Din Aae Khushiyaan Saath Mein Le Aae Naat Lyrics

 

 

क़ुर्बानी के दिन आए
ख़ुशियाँ साथ में ले आए

हाँ ! हाँ ! बकरा-ईद है
ये तो बड़ी ईद है

क़ुर्बानी, क़ुर्बानी हर मोमिन की पहचान है

क़ुर्बानी के दिन आए, ख़ुशियाँ साथ में ले आए
अल्लाह की तौफ़ीक़ से हम गाय, बकरा ले आए

अब दिल से, अब दिल से क़ुर्बानी करेंगे
अब दिल से, अब दिल से क़ुर्बानी करेंगे

हाँ ! हाँ ! बकरा-ईद है
ये तो बड़ी ईद है

रब त’आला के लिए क़ुर्बानी में इख़्लास हो
काश ! हम से हो कभी भी न रिया क़ुर्बानी में

क़ुर्बानी के दिन आए, ख़ुशियाँ साथ में ले आए
अल्लाह की तौफ़ीक़ से हम गाय, बकरा ले आए

अब दिल से, अब दिल से क़ुर्बानी करेंगे
अब दिल से, अब दिल से क़ुर्बानी करेंगे

क़ुर्बानी, क़ुर्बानी, क़ुर्बानी हमारी शान है
क़ुर्बानी, क़ुर्बानी हर मोमिन की पहचान है

गाय आई, बकरा आया, बच्चा बच्चा कहता है
होती है इन के लबों पर ये सदा क़ुर्बानी में

क़ुर्बानी के दिन आए, ख़ुशियाँ साथ में ले आए
अल्लाह की तौफ़ीक़ से हम गाय, बकरा ले आए

अब दिल से, अब दिल से क़ुर्बानी करेंगे
अब दिल से, अब दिल से क़ुर्बानी करेंगे

हाँ ! हाँ ! बकरा-ईद है
ये तो बड़ी ईद है

गोश्त मिस्कीन-ओ-यतीमों को भी देना है ज़रूर
पाओगे इस नेकी से रब की रिज़ा क़ुर्बानी में

क़ुर्बानी के दिन आए, ख़ुशियाँ साथ में ले आए
अल्लाह की तौफ़ीक़ से हम गाय, बकरा ले आए

अब दिल से, अब दिल से क़ुर्बानी करेंगे
अब दिल से, अब दिल से क़ुर्बानी करेंगे

क़ुर्बानी, क़ुर्बानी, क़ुर्बानी हमारी शान है
क़ुर्बानी, क़ुर्बानी हर मोमिन की पहचान है

मोमिनो शामिल करो रब की रिज़ा क़ुर्बानी में
रब त’आला तुम को देगा फिर जज़ा क़ुर्बानी में

क़ुर्बानी के दिन आए, ख़ुशियाँ साथ में ले आए
अल्लाह की तौफ़ीक़ से हम गाय, बकरा ले आए

अब दिल से, अब दिल से क़ुर्बानी करेंगे
अब दिल से, अब दिल से क़ुर्बानी करेंगे

हाँ ! हाँ ! बकरा-ईद है
ये तो बड़ी ईद है

शायर:
अब्दुल कमाल अत्तारी

नात-ख़्वाँ:
मुहम्मद हंज़ला क़ादरी और मुहम्मद हम्ज़ा क़ादरी

 

qurbani ke din aae
KHushiyaa.n saath me.n le aae

haa.n ! haa.n ! bakra-eid hai
ye to ba.Di eid hai

qurbani, qurbani
har momin ki pahchaan hai

qurbani ke din aae
KHushiyaa.n saath me.n le aae
allah ki taufeeq se ham
gaay, bakra le aae

ab dil se, ab dil se
qurbani kare.nge
ab dil se, ab dil se
qurbani kare.nge

haa.n ! haa.n ! bakra-eid hai
ye to ba.Di eid hai

rab t’aala ke liye
qurbani me.n iKHlaas ho
kaash ! ham se ho kabhi bhi
na riya qurbani me.n

qurbani ke din aae
KHushiyaa.n saath me.n le aae
allah ki taufeeq se ham
gaay, bakra le aae

ab dil se, ab dil se
qurbani kare.nge
ab dil se, ab dil se
qurbani kare.nge

qurbani, qurbani, qurbani
hamaari shaan hai
qurbani, qurbani har momin ki
pahchaan hai

gaay aai, bakra aaya
bachcha bachcha kahta hai
hoti hai in ke labo.n par
ye sada qurbani me.n

qurbani ke din aae
KHushiyaa.n saath me.n le aae
allah ki taufeeq se ham
gaay, bakra le aae

ab dil se, ab dil se
qurbani kare.nge
ab dil se, ab dil se
qurbani kare.nge

haa.n ! haa.n ! bakra-eid hai
ye to ba.Di eid hai

gosht miskeen-o-yateemo.n
ko bhi dena hai zaroor
paaoge is neki se
rab riza qurbani me.n

qurbani ke din aae
KHushiyaa.n saath me.n le aae
allah ki taufeeq se ham
gaay, bakra le aae

ab dil se, ab dil se
qurbani kare.nge
ab dil se, ab dil se
qurbani kare.nge

qurbani, qurbani, qurbani
hamaari shaan hai
qurbani, qurbani har momin ki
pahchaan hai

momino shaamil karo
rab ki riza qurbani me.n
rab t’aala tum ko dega
phir jaza qurbani me.n

qurbani ke din aae
KHushiyaa.n saath me.n le aae
allah ki taufeeq se ham
gaay, bakra le aae

ab dil se, ab dil se
qurbani kare.nge
ab dil se, ab dil se
qurbani kare.nge

haa.n ! haa.n ! bakra-eid hai
ye to ba.Di eid hai

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *