Tumhen Har Khushi Bhool Jaani Padegi Nazar Mein Madina Basa Kar To Dekho Naat Lyrics

Tumhen Har Khushi Bhool Jaani Padegi Nazar Mein Madina Basa Kar To Dekho Naat Lyrics

 

तुम्हें हर ख़ुशी भूल जानी पड़ेगी
नज़र में मदीना बसा कर तो देखो
ज़माना तुम्हारी ग़ुलामी करेगा
नबी की ग़ुलामी में आ कर तो देखो

तुम्हें ज़िंदगी भूल जानी पड़ेगी
नज़र में मदीना बसा कर तो देखो
ज़माना तुम्हारे क़दम चूम लेगा
नबी की ग़ुलामी में आ कर तो देखो

छुपा लेगी दामन में रहमत ख़ुदा की
दयार-ए-शह-ए-दीं में जा कर तो देखो
फ़रिश्ते करेंगे तुम्हारी ज़ियारत
ग़ुबार-ए-मदीना लगा कर तो देखो

कलाम-ए-ख़ुदा का ये ए’लान सुनिए
मेरे मुस्तफ़ा का ये फ़रमान सुनिए
तुम्हें दोनों ‘आलम की दौलत मिलेगी
यतीमों को दिल से लगा कर तो देखो

वो मेहराब-ओ-मिंबर, वो जन्नत की क्यारी
वो पुर-नूर रौज़ा, सुनहरी वो जाली
नहीं भूल पाओगे जन्नत में भी तुम
मदीने में इक बार जा कर तो देखो

रसूलों के हैं जो इमाम उन पे भेजो
दुरूद उन पे भेजो, सलाम उन पे भेजो
हर इक ग़म से तुम को रिहाई मिलेगी
ये नुस्ख़ा ज़रा आज़मा कर तो देखो

ना’त-ख़्वाँ:
ज़ैन-उल-आबिदीन कानपुरी

 

tumhe.n har KHushi bhool jaani pa.Degi
nazar me.n madina basa kar to dekho
zamaana tumhaari Gulaami karega
nabi ki Gulaami me.n aa kar to dekho

tumhe.n zindagi bhool jaani pa.Degi
nazar me.n madina basa kar to dekho
zamaana tumhaare qadam choom lega
nabi ki Gulaami me.n aa kar to dekho

chhupa legi daaman me.n rehmat KHuda ki
dayaar-e-shah-e-dee.n me.n jaa kar to dekho
farishte karenge tumhaari ziyaarat
Gubaar-e-madina laga kar to dekho

kalaam-e-KHuda ka ye e’laan suniye
mere mustafa ka ye farmaan suniye
tumhe.n dono.n ‘aalam ki daulat milegi
yateemo.n ko dil se laga kar to dekho

wo mehraab-o-mimbar, wo jannat ki kyaari
wo pur-noor rauza, sunahri wo jaali
nahi.n bhool paaoge jannat me.n bhi tum
madine me.n ik baar jaa kar to dekho

rasoolo.n ke hai.n jo imaam un pe bhejo
durood un pe bhejo, salaam un pe bhejo
har ik Gam se tum ko rihaai milegi
ye nusKHa zara aazma kar to dekho

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *